Farmer Protest: ट्रैक्टरों से बैरिकेड तोड़ दिल्ली में घुसे प्रदर्शनकारी किसान, पुलिस से हुई झड़प

Protest

नई दिल्लीः पूरा देश आज जहां 72वां गणतंत्र दिवस (Republic Day 2021) मना रहा है। वहीं, दूसरी तरह राजधानी में अलग-अलग जगहों पर प्रदर्शनकारी किसानों और पुलिस के बीच झड़प हो गई। प्रदर्शनकारी किसान नेताओं ने कल कहा था कि ट्रैक्टर मार्च शांतिपूर्ण तरीके से निकाला जाएगा। मगर, किसानों के कई जत्थे टैक्टरों से बैरिकेड तोड़ते हुए राजधानी में आईटीओ तक पहुंच गए हैं। वहीं, एनएच-24 पर भी किसान रास्ते में बैरिकेड तोड़ अक्षरधाम मंदिर की तरफ बढ़ रहे हैं। रास्ते में प्रदर्शनकारियों ने बवाल भी किया। किसानों ने पुलिस को भी नहीं बख्शा और उनकी गाड़ियों के शीशे भी तोड़ डाले। नवभारत के मुताबिक, करनाल बाईपास पर प्रदर्शनकारी किसानों के साथ ही घुड़सवार निहंग भी पुलिस बैरिकेड पर टूट पड़े। किसानों और निहंगों ने मिलकर पुलिस बैरिकेड तोड़ डाले और खूब हंगामा किया। वहीं, पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े।

Video Link: 

नांगलोई में प्रदर्शनकारी किसानों को रोकने के लिए पुलिसवाले खुद जमीन पर बैठ गए। यहां से किसानों के जत्थे नजफगढ़ की ओर तय रूट पर जाने की बजाय रोहतक रोड पर पीरागढ़ी की ओर बढ़ रहे हैं। बहादुरगढ़ से पीरागढ़ी मेट्रो सेवा तत्काल प्रभाव से बंद कर दी गई। पीरागढ़ी सहित इस रूट पर लगने वाले सभी स्टेशनों को बंद कर दिया गया है। प्रदर्शनकारी राजधानी के मकरबा चौक पर पुलिस के वाहन पर चढ़ गए। इसके बाद उन लोगों ने पुलिस के बैरिकेड हटा दिए। दिल्ली के आईटीओ पर प्रर्दशनकारी किसानों ने उग्र रूप धारण कर लिया और पुलिसवालों पर ही हमला कर दिया।

वहीं, दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे पर पांडव नगर के निकट भी प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच झड़प हो गई। किसानों की ट्रैक्टर परेड का समय गणतंत्र दिवस परेड के बाद का तय किया गया है। लेकिन किसान नहीं माने और राजधानी में घुस आए।

Add comment


Security code
Refresh