शुभमन गिल ने रचा इतिहास, तोड़ा सुनील गावस्कर का 50 साल पुराना रिकॉर्ड

Gill

नई दिल्लीः भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच ब्रिस्बेन के गाबा के मैदान पर मैच के आखिरी दिन शुभमन गिल ने ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों की खूब परीक्षा ली। हालांकि वो 91 रन बनाकर आउट हो गए और नर्वस नाइंटी का शिकार हुए। इस 21 वर्षीय युवा सलामी बल्लेबाज ने मौके को भुनाया और मैच के अंतिम दिन एक शानदार पारी खेली। शुभमन गिल ने अपनी इस आकर्षक पारी की बदौलत कई उपलब्धियां भी हासिल की हैं। वह भारत की ओर से टेस्ट क्रिकेट की चौथी पारी में अर्द्धशतक लगाने वाले भारत के सबसे युवा ओपनर बल्लेबाज बन गए हैं।

आपको बता दें कि पहले ये रिकॉर्ड सुनील गावस्कर के नाम था। गावस्कर ने 1970-71 में वेस्टइंडीज के खिलाफ पोर्ट ऑफ स्पेन में नाबाद 67 रन बनाए थे, वह उनका डेब्यू टेस्ट था। अब गिल ने अपने तीसरे टेस्ट में महज 21 साल की उम्र में ये कारनामा कर दिखाया।

हालांकि, ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट मैच में गिल 91 रन पर आउट होकर नर्वस नाइंटी में आउट होने वाले सबसे युवा खिलाड़ी भी बन गए हैं। इसके अलावा वह ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट मैच की चैथी पारी में अर्द्धशतक लगाने वाले सबसे युवा भारतीय भी बन गए हैं, इस मामले में उन्होंने सर दिलीप वेंगसरकर को पीछे छोड़ दिया है।

शुभमन गिल ने पहली पारी में मात्र 7 रन बनाए थे। लेकिन, दूसरी पारी में उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों की धज्जियां उड़ा दीं। हालांकि वह अपने पहले टेस्ट शतक से चूक गए, लेकिन आउट होने से पहले उन्होंने 146 गेंदों में 91 रन बनाए। दाएं हाथ के इस युवा बल्लेबाज ने अपनी पारी के दौरान आठ चौके और दो शानदार छक्के भी लगाए। उन्होंने चेतेश्वर पुजारा के साथ मिलकर दूसरे विकेट के लिए 114 रनों की महत्वपूर्ण साझेदारी निभाई और टीम इंडिया की इस शानदार जीत की नींव रखी।

बता दें कि शुभमन गिल ने इसी के साथ अपनी डेब्यू टेस्ट सीरीज में 50 से अधिक की औसत से 200 रन भी पूरे कर लिए। सीरीज में उनके प्रदर्शन की बात करें तो गिल ने मेलबर्न टेस्ट में 45 और 35 रन की आकर्षक पारियां भी खेली। इसके बाद सिडनी टेस्ट में उन्होंने 50 और 31 रन बनाए और अब ब्रिस्बेन में 7 और 91 रन बनाए। 

शुभमन गिल के बारे में ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर बात कर रहे हैं कि ये बल्लेबाज बहुत आगे जाएगा, क्योंकि उसके पास तकनीक और पाॅवर दोनों है।