विराट कोहली की जगह अजिंक्य रहाणे को बनाओ टेस्ट कप्तानः बिशन सिंह बेदी

BishanSinghBedi

नई दिल्लीः विराट कोहली की अनुपस्थिति और मुख्य खिलाड़ी घायल होने के बाद भी अजिंक्य रहाणे ने जिस तरह टीम इंडिया का नेतृत्व किया और जीत दिलाई, वो काबिले तारीफ है। खासकर, सीरीज में पहला मैच बुरी तरह से हारने के बाद भारत ने 2-1 से सीरीज अपने नाम की। इसकी वजह से रहाणे की कप्तानी की चारों ओर प्रशंसा हो रही है। हालांकि पहले से कोहली के आदर्श उत्तराधिकारी को लेकर एक बहस चल रही है, जिसमें रोहित शर्मा और रहाणे के नामों पर चर्चा की जा रही है।  ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान इयान चैपल ने कहा है कि रहाणे कोहली के सही रिप्लेसमेंट है। इस बीचए पूर्व भारतीय कप्तान बिशन सिंह बेदी विराट कोहली की जगह अजिंक्य रहाणे को टेस्ट का परमानेंट कप्तान बनाने की मांग की है।

आपको बता दें कि विराट कोहली ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज को बीच में छोड़कर भारत लौट चुके थे, लेकिन कोहली की जगह कप्तानी करने वाले अजिंक्य रहाणे ने ऑस्ट्रेलियाई माइंड गेम से लड़ते हुए टीम को फिर से खड़ा कर दिया। टीम इंडिया ने रहाणे की कप्तानी में मेलबर्न में जबरदस्त वापसी की। अजिंक्य रहाणे ने टीम इंडिया की मोर्चे से अगुवाई करते हुए मेलबर्न में शानदार शतक भी लगाया। 

इस जीत के बाद इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन, ऑस्ट्रेलिया के रिकी पोटिंग और शेन वॉर्न ने भी रहाणे की कप्तानी की तारीफ की थी। पूर्व भारतीय कप्तान बिशन सिंह बेदी तो रहाणे की कप्तानी से इतना खुश हुए कि उन्होंने विराट कोहली की जगह अजिंक्य रहाणे को टेस्ट का परमानेंट कप्तान बनाने की मांग ही कर डाली।

बिशन सिंह बेदी ने इंडियन एक्सप्रेस में लिखे अपने कॉलम के जरिए कहा, ‘‘अजिंक्य रहाणे मुझे टाइगर पटौदी की याद दिलाते हैं। रहाणे ने जिस तरह घायल टीम का कप्तानी करते हुए टीम इंडिया को ऑस्ट्रेलिया में 2-1 से टेस्ट सीरीज में जीत दिलाई वह तारीफ के काबिल हैं।’’

बिशन सिंह बेदी ने कहा, ‘‘रहाणे के अंदर गेंदबाजी में बदलाव और फील्डिंग सजाने की कला पटौदी की तरह दिखी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘टीम इंडिया को महान बल्लेबाज और साधारण कप्तान में से किसी एक को चुनने का वक्त आ गया है।’’

बिशन सिंह बेदी ने कहा, ‘‘विराट कोहली भारत के लिए लंबा खेल सकें, इसलिए रहाणे को कप्तान बनाया जाना चाहिए। वह कप्तानी कर सकते हैं, जबकि रोहित सफेद गेंद की क्रिकेट में कमान संभाल सकते हैं।

इससे पहले भी महेन्द्र सिंह धोनी की कप्तानी में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को उसके ही घर में 2018-19 टेस्ट सीरीज में 2-1 से हराया था। दिग्गजों ने कहा था कि पिछली बार ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर भारत ने टेस्ट सीरीज इसलिए जीती, क्योंकि डेविड वॉर्नर और स्टीव स्मिथ बैन के कारण नहीं खेल रहे थे, लेकिन इस बार वॉर्नर और स्मिथ दोनों थे और भारत के कई मुख्य खिलाड़ी चोट लगने और दूसरे कारणों से उपलब्ध नहीं थे, फिर भी भारत ने टेस्ट सीरीज जीती, ये भारतीय टीम के जज्बे और रहाणे की बेहतरीन कप्तानी को दर्शाता है।

(With input Aajtak)