केरल घूमना चाहते हैं तो हो जायें तैयार, 1 नवंबर से खुल रहे सभी पर्यटन स्थल

Kerala

केरल की सभी पर्यटन गतिविधियाँ 1 नवंबर से शुरू होंगी। 7-8 महीने से कोविद-19 के कारण लाॅकडाउन के चलते समुद्र तटों पर जाना वर्जित था, जोकि अब खोल दिया जाएगा। सरकार द्वारा अनलॉक करने के बाद पर्यटन गतिविधियों को, जिनमें सभी समुद्र तट जोकि केरल में सबसे अधिक आकर्षण का केन्द्र हैं, कुछ दिशा-निर्देशों के साथ 1 नवंबर से पर्यटकों के लिए खोले जा रहे हैं। पर्यटन उद्योग को पटरी पर लाने के लिए सरकार अपनी पूरी कोशिश कर रही है।

केरल ने पिछले 6 महीने से तालाबंदी के बाद एक बार फिर पर्यटकों का स्वागत करना शुरू कर दिया है। यह निर्णय राज्य में पर्यटन उद्योग को पुनः सक्रिय करने के लिए किया गया था। हालांकि, सरकार ने फिलहाल समुद्र तटों को जनता के लिए नहीं खोलने का फैसला किया है, लेकिन बाकी पर्यटक स्थल आगंतुकों के लिए खुले रहेंगे।

राज्य के पर्यटन मंत्री, कडकम्पल्ली सुरेंद्रन ने कहा, ‘‘राज्य ने अपने पर्यटन स्थलों को फिर से चरणबद्ध तरीके से फिर से खोलने का फैसला किया है, क्योंकि विभिन्न व्यवसायी जो पर्यटन पर निर्भर हैं, संकट का सामना कर रहे हैं।’’ केंद्र के अनलॉक-4 के दिशानिर्देशों के साथ सावधानी बरतने के बाद पर्यटन क्षेत्र को फिर से खोलने की अनुमति दी है। इस पर ध्यान देते हुए, राज्य ने पर्यटन क्षेत्र को फिर से खोलने का फैसला किया है और इस संकट की घड़ी में क्षेत्र के लिए एक बड़ी राहत होगी।’’

‘दक्षिण का कश्मीर’ मुन्नार

Munnar

मुन्नार एक अविश्वसनीय, शानदार और अतिआकर्षक मन को लुभाने वाला हिल स्टेशन है जो इडुक्की जिले में स्थित है। यहां पर विशाल चाय के बागान और सुंदर पहाड़ियाँ सभी को अपनी ओर आकर्षित करती हैं। इसी सुंदरता के कारण ही मुन्नार को ‘दक्षिण का कश्मीर’ भी कहा जाता है। मुन्नार नाम का अर्थ होता है तीन नदियां और जो मधुरपुजहा, नल्लाथन्नी और कुंडाली नदियों के अजीब मिलन स्थल वाले क्षेत्र को प्रदर्शित करता है। पर्यटन गंतव्यों की भारी मांग के बाद, यह हिल स्टेशन दुनियाभर में केरल के प्रमुख पर्यटन स्थलों के रूप में लोकप्रिय होने लगा है। 

कोवलम विदेशी सैलानियों की पहली पसंद

Kovalam

दक्षिण भारत के केरल राज्य में स्थित कोवलम एक खूबसूरत समुद्री पर्यटन स्थल है। यहां एक कतार में खड़े नारियल के पेड़ कोवलम को प्राकृतिक लिबास प्रदान करते हैं। मनोरम प्राकृतिक सुंदरता के अलावा, कोवलम पर्यटकों के लिए शानदार अवकाश के विकल्प भी प्रदान करता है। यह भारत में विदेशी सैलानियों के पसंदीदा समुद्री तटों में गिना जाता है, जहां वे तैराकी, सनबाथिंग और अन्य जल गतिविधियों का आनंद लेना पसंद करते हैं। आप यहां अपने परिवार और दोस्तों के साथ एक आरामदायक छुट्टी बीता सकते हैं। यहां की चमकदार रेत, नीला एक्वामेरीन पानी, आकर्षक लहरे पर्यटकों को बहुत हद तक प्रभावित करने का काम करती हैं। कोवलम के लाइटहाउस बीच की यात्रा के दौरान सर्फिंग, सनबाथिंग, तैराकी, बीच वॉलीबॉल जैसी गतिविधियों का आनंद लेना न भूलें।

दूसरे पर्यटन स्थल
केरल में घूमने के लिए कई स्थान हैंः- एलेप्पी, वायनाड, कोचीन, कुमारकोम, कोल्लम, वाजीमोन, कोझीकोड, कुमारकोम, थेक्कडी, अष्टसुडी, बेकल गुरुवायुर, इडुक्क, आई कन्नूर, कासरगोड बैकवेटर्स केवेटर्स केवर्स मारारी मुनरो द्वीप नेल्लम्पैथी पलक्कड़ पोनमुडी पूवर तिरुवनंतपुरम त्रिशूर वर्कला
 
केरल में प्रवेश करने के लिए दिशानिर्देश
जो पर्यटक 7 दिनों से अधिक केरल की यात्रा करना चाहते हैं, उन्हें अपना कोविड की नेगेटिव रिपोर्ट दिखानी होगी या राज्य में प्रवेश करने के बाद परीक्षण से गुजरना होगा। अन्यथा, उन्हें 7 दिनों के लिए क्वारंटाइन में रहने की आवश्यकता होगी।

7 दिनों से कम की यात्राओं के लिए पर्यटकों को एक नकारात्मक कोरोना वायरस प्रमाणपत्र ले जाने की आवश्यकता नहीं होगी।
मास्क, सेनेटाइजर और सोशल डिस्टेंसिग अनिवार्य है।
पर्यटकों को सभी पर्यटन स्थलों पर स्वास्थ्य प्रोटोकॉल का पालन करना होगा।
सभी पर्यटकों के लिए पंजीकरण अनिवार्य है।

यदि किसी व्यक्ति में केरल प्रवास के दौरान कोरोना के लक्षण दिखाई देते हैं, तो उन्हें तुरंत DISHA हेल्पलाइन से संपर्क करना चाहिए।  केरल पूरे जोश के साथ पर्यटन को फिर से शुरू करने के लिए तैयार है।

Also read in English: Kerala set to resume tourism with full zest

Add comment


Security code
Refresh