Bihar Election: निवार्चन आयोग ने की घोषणा, तीन चरणों में होगा मतदान, जाने खास बातें...

BIHAR

नई दिल्लीः बिहार विधान सभा चुनाव 2020 3 फेस में होगा। चुनाव  28 अक्टूबर, 3 और 7 नवंबर को तीन चरणों में होगा। 10 नवंबर को मतगणना और परिणाम घोषित किए जाएंगे। चुनाव आयोग ने कहा कि इस साल कोविड-19 महामारी के कारण सुरक्षाकर्मियों की आवाजाही को कम से कम करने के लिए कम चरणों में मतदान होगा। इस घोषणा के साथ ही राज्य में आदर्श आचार संहिता लागू हो जाती है। बिहार की 243 सदस्यीय विधानसभा 29 अक्टूबर, 2020 को समाप्त होने वाली है।

मतदान के पहले चरण में, 16 जिलों के 71 विधानसभा क्षेत्रों में चुनाव होंगे। दूसरे चरण में, 17 जिलों के 94 निर्वाचन क्षेत्रों में मतदान होगा और तीसरे और अंतिम चरण में, 15 जिलों में 78 निर्वाचन क्षेत्रों में मतदान होगा।

Also read: Farm Bill: दिल्ली-मेरठ-नोएडा हाईवे बंद, किसान सड़कों पर गुड़गुड़ा रहे हुक्का

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने नई दिल्ली में प्रेस को संबोधित करते हुए कहा, “चुनाव में सुरक्षा बलों की बड़े पैमाने पर तैनाती होती है। हमने लंबी दूरी पर उनकी आवाजाही को कम करने की कोशिश की है। यह कोविड-19 साथ-साथ उनकी सुविधा के कारण किया गया है। हमने इसके कारण चरणों की संख्या घटाकर 3 कर दी है।’’

Also read: प्रसिद्ध गायक एसपी बालासुब्रमण्यम का निधन, कोरोना वायरस से थे संक्रमित

महामारी के बीच, नेताओं और मतदाताओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए चुनाव प्रचार और मतदान के लिए कई उपाय किए गए हैं। मतदान सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक एक घंटे बढ़ा दिया गया है। आखिरी घंटे कोविड-19 वाले और क्वारंटराइन रहने वालों के लिए आरक्षित होंगे।

महामारी के बीच कई देशों ने चुनाव कराए हैं। हालांकि, सीईसी अरोड़ा ने यह भी कहा कि महामारी चुनाव के दौरान बिहार में सबसे बड़े चुनाव होने की संभावना है। बता दें कि राज्य में 72.9 मिलियन मतदाता हैं।

Also read: कृषि बिल के विरोध में किसानों ने शुरू किया देशव्यापी आंदोलन, आज भारत बंद का आह्वान

प्रेस कॉन्फ्रेंस की खास बातेंः
नामांकन के दौरान उम्मीदवार के साथ दो से ज्यादा वाहन नहीं जा सकते हैं।
एक बूथ पर होंगे सिर्फ 1,000 मतदाता।
कोरोना मरीज वोटिंग के आखिरी घंटे में वोट डाल पाएंगे। 
पांच से ज्यादा लोग एक साथ किसी के घर जाकर प्रचार नहीं करेंगे। 
विधानसभा कैंडिडेंट समेत कुल 5 लोग ही डोर टू डोर कैंपेन में शामिल होंगे। 
5 से ज्यादा लोग घर जाकर प्रचार नहीं कर पाएंगे। 
सुबह 7 बजे से शाम के 6 बजे तक होगी वोटिंग। 
मतदान का समय एक घंटा बढ़ा दिया गया है। 
नामांकन ऑनलाइन भी किया जा सकेगा। 
नए सुरक्षा मानकों के तहत कोरोना काल में चुनाव की तैयारी की गई है। 
7 लाख हैंड सैनेटाइजर, 6 लाख पीपीई किट्स, 7,6 लाख बेड्सशीट, 23 लाख हैंड ग्लब्स का इंतजाम किया गया है।
कोविड के चलते नए सुरक्षा मानकों के तहत चुनाव होंगे। 
पोलिंग बूथ पर मतदाताओँ की संख्या घटाई जाएगी। एक बूथ पर 1 हजार मतदाता होंगे। 
चुनाव नागरिकों का लोकतांत्रिक अधिकार है। इसलिए चुनाव कराने जरूरी हैं।

 

Add comment


Security code
Refresh