FAUG

FAUG Game का इंतजार हुआ खत्म, गूगल प्ले स्टोर से कर सकते हैं इंस्टाल

नई दिल्लीः पबजी (PUBG) गेम के बैन होने से निराश लोगों के एक अच्छी खबर है। पबजी का देसी वर्जन FAUG लांच हो गया है। गणतंत्र दिवस के मौके पर इस गेम को भारत में लॉन्च किया गया है। यूजर्स इसे गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं। बता दें कि FAU-G Game App का पिछले साल नवंबर में प्ले स्टोर पर प्री-रजिस्ट्रेशन हो चुका है और बीते दो महीने में इस गेम को खेलने के लिए करीब 40 लाख लोग अपना रजिस्ट्रेशन भी करा चुके हैं। 

ऐसे करें डाउनलोड 
एंड्रायड यूजर्स गूगल प्ले स्टोर से FAUG ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं। इसके लिए सबसे पहले आपको प्ले स्टोर में सर्च बटन में FAUG टाइप करना होगा। इसके बाद आपको FAUG: Fearless and United Guards  का ऑप्शन दिखेगा। इसको डाउनलोड करने से पहले ये जरूर ध्यान दें कि ऐप Studio nCore डिवेलपर के नाम के साथ हो। वहीं अगर आपने इस गेम के लिए प्री रजिस्ट्रेशन कराया हुआ है तो आपको इस गेम के लॉन्चिंग के बाद नोटिफिकेशन आ जाएगा। बता दें कि जिन लोगों ने अभी तक इस गेम के लिए रजिस्टर नहीं कराया है वो FAUG को डाउनलोड करने के बाद इंस्ट्रक्शनंस को फॉलो कर गेम इंस्टॉल कर सकते हैं।

एंड्रॉयड स्मार्टफोन में ही करेगा काम
FAUG गेम फिलहाल केवल एंड्रॉयड स्मार्टफोन पर ही चलेगा। साथ ही एंड्रॉयड 8 और इसके बाद के ओएस वर्जन पर चलने वाले डिवाइस में गेम सपोर्ट करेगा। आईपैड और आईफोन सपोर्ट के बारे में फिलहाल कंपनी ने कोई जानकारी नहीं दी है। वहीं गेम के फॉर्मेट के बारे में बात करें तो फौजी गेम में बैटल रॉयल गेमप्ले मोड नहीं मिलेगा। इसमें कई सारे प्लेयर एक साथ खेल सकेंगे। हालांकि बाद में बैटल रॉयल और मल्टीप्लेयर दोनों ही मोड इसमें जोड़े जाएंगे।

Parijat

Harsingar: हरसिंगार को क्यों माना जाता है आयुर्वेद में एक अविश्वसनीय जड़ी-बूटी!

पारिजात को हरसिंगार कहा जाता है। आपने पारिजात या हरसिंगार के फूल का प्रयोग जरूर किया होगा, लेकिन शायद हरसिंगार के गुणों के बारे में आप नहीं जानते होंगे। हरसिंगार का पेड़ बाग-बगीचों में अक्सर पाया जाता है। इसके फूल बहुत ही मनमोहक और आकर्षक होते हैं। आमतौर पर लोग हरसिंगार के फूल को केवल पूजा-पाठ के लिए इस्तेमाल करते हैं। लोगों को यह जानकारी ही नहीं है कि पारिजात या हरसिंगार के फायदे एक-दो नहीं बल्कि इसके कई सारे फायदे हैं।  क्या आप जानते हैं कि हरसिंगार का वृक्ष कई रोगों का इलाज भी कर सकता है। आयुर्वेद में इसके बारे में बताया गया है कि हरसिंगार का पौधा एक बहुत ही उत्तम औषधि है। हरसिंगार (पारिजात) के इस्तेमाल से आप पाचनतंत्र, पेट के कीड़े की बीमारी, मूत्र रोग, बुखार, लीवर विकार सहित अन्य कई रोगों में लाभ पा सकते हैं।

Tandav

हिन्दू देवताओं का अपमान करने वाली वेब सीरीज ‘तांडव’ पर तत्काल रोक लगाकर सभी दोषियों को गिरफ्तार करने की मांग

मुजफ्फरपुरः हाल ही में ‘एमेजन प्राइम’ पर प्रसारित हुई अली अब्बास जफर निर्देशित ‘तांडव’ नामक वेब सीरीज में करोडों हिन्दुओं के आराध्य देवता भगवान शिव और भगवान श्रीराम के संबंध में आपत्तिजनक संवाद दिखाकर उनका अपमान किया गया है तथा भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समान व्यक्तिरेखा दिखाकर उनका भी अपमान किया गया है। ऐसी विद्वेषी ‘तांडव’ वेबसीरीज पर तत्काल रोक लगाई जाए तथा उसके सभी दोषियों पर अपराध प्रविष्ट कर उन्हें गिरफ्तार करते हुए उन पर कठोर कार्यवाही की जाए इस मांग हेतु यहां के जिलाधिकारी प्रणव कुमार को हिन्दू जनजागृति समिति के प्रतिनिधियों ने ज्ञापन सौंपा।

NETAJI

पराक्रम दिवसः नेताजी सुभाष चंद्र बोस के बारे में जानें कुछ रोचक तथ्य

नई दिल्लीः नेताजी के नाम से मशहूर सुभाष चंद्र बोस की आज 125 वीं जयंती है। दिवंगत स्वतंत्रता सेनानी की अदम्य भावना और राष्ट्र के प्रति निस्वार्थ सेवा के लिए सम्मानित करने के लिए, केंद्र ने नागरिकों, विशेषकर युवाओं, को प्रेरित करने के उद्देश्य से हर साल उनकी ‘जयंती’ को ‘पराक्रम दिवस’ के रूप में मनाने का फैसला किया है। इस दिवस का उद्देश्य देश के लोगों में देशभक्ति की भावना का संचार करना है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में, नेताजी की थीम पर आधारित ‘अमरा नूतन जौबनेरी दूत’ नामक एक सांस्कृतिक कार्यक्रम पश्चिम बंगाल के कोलकाता में विक्टोरिया मेमोरियल में ‘पराक्रम दिवस’ समारोह के उद्घाटन समारोह के दौरान आयोजित किया जाना है।

Smart

DRDO ने किया स्‍मार्ट एंटी एयरफील्‍ड वेपन का सफल उड़ान परीक्षण

नई दिल्लीः डीआरडीओ ने एक और उपलब्धि हासिल करते हुए स्‍वदेश में निर्मित स्‍मार्ट एंटी एयरफील्‍ड वेपन (एसएएडब्‍ल्‍यू) का कल 21 जनवरी, 2021 को ओडिशा तट से कुछ दूर सफल ‘कैप्टिव एंड रिलीज’ उड़ान परीक्षण किया। यह परीक्षण हिंदुस्‍तान एयरोनॉटिक्‍स लिमिटेड (एचएएल) के हॉक-I विमान के जरिए किया गया।

इस स्‍मार्ट वेपन का एचएएल में निर्मित भारतीय हॉक-एमके132 विमान से सफलतापूर्वक प्रायोगिक परीक्षण किया गया। डीआरडीओ द्वारा अब तक किए गए सफल परीक्षणों की श्रृंखला में एसएएडब्‍ल्‍यू का यह परीक्षण नौवां था। यह एक टेक्‍स्‍ट बुक परीक्षण था जिसने अपने सभी लक्ष्‍य हासिल किए। बालासोर स्थित अंतरिम परीक्षण अड्डे (आईटीआर) पर स्‍थापित टेलीमीट्री और ट्रैकिंग प्रणाली ने इस मिशन के सभी दृश्‍यों को कैमरे में कैद किया।