Corona Pandemic: चीन अपनी हरकतों की वजह से फिर घिरा, Trump ने UN में लिया निशाने पर

Trump

नई दिल्लीः कोरोना वायरस महामारी को लेकर पूरी दुनिया में उथल-पुथल मची हुई है। इस बीमारी के जनक चीन के बारे में भी सबको पता चल गया है। लेकिन, चीन है कि अपनी करतूतों से बाज नहीं आ रहा। इसी कारण, संयुक्त राष्ट्र की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर आम बहस के दौरान अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चीन को निशाने पर लिया। वर्चुअल रूप से इस बहस में हिस्सा लेते हुए ट्रंप ने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण के लिए संयुक्त राष्ट्र (UN) चीन को जिम्मेदार ठहराए।

डोनाल्ड ट्रंप ने यूएन की भूमिका पर भी सवाल खड़े किये। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि यूएन पर चीन का पूरा नियंत्रण है, इसीलिए डब्ल्यूएचओ (WHO) ने वायरस को लेकर गलत बयान दिए। ट्रंप ने कहा, ‘‘वायरस के शुरुआती दिनों में, चीन और विश्व स्वास्थ्य संगठन ने झूठा दावा किया कि मानव-से-मानव में फैलने का कोई सबूत नहीं है। डब्ल्यूएचओ वास्तव में चीन के नियंत्रण में है।’’

दूसरी तरफ, संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने 6 दिवसीय आम बहस के दौरान अमेरिका और चीन के बीच चल रहे शीत युद्ध को खत्म करने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि दोनों देशों के बीच संघर्ष रुकना चाहिए, ताकि कोविड-19 महामारी पर ज्यादा ध्यान केंद्रित किया जा सके। कोरोना वायरस के कारण इस साल संयुक्त राष्ट्र महासभा की आम बहस वर्चुअल हो रही है। इसके बावजूद यूएन की इमारत के सामने न्यूयॉर्क पुलिस भारी संख्या में तैनात है।

हालांकि, इससे पहले, चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने कोरोना महामारी पर किसी भी तरह की राजनीति को खारिज करते हुए इस वायरस को मिलकर पराजित करने की बात कही। उन्होंने कहा कि चीन ने कोई सच नहीं छिपाया। हमने इस मामले में पूरी पारदर्शिता बरती है। जिनपिंग ने आगे कहा कि यदि हमें कोरोना महामारी को परस्त करना है, तो मिलकर काम काम करना होगा।

(Agencies input)

Add comment


Security code
Refresh