उत्तर प्रदेश

Uttar Pradesh: 13 वर्षीय लड़की की बलात्कार के बाद हत्या, 2 आरोपी गिरफ्तार

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के लखीमपुर जिले में एक 13 वर्षीय लड़की की बलात्कार के बाद हत्या कर दी गई। दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में बलात्कार की पुष्टि होती है। दोनों आरोपियों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के तहत कार्रवाई की गई है। राजधानी लखनऊ से करीब 130 किमी दूर […]

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के लखीमपुर जिले में एक 13 वर्षीय लड़की की बलात्कार के बाद हत्या कर दी गई। दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में बलात्कार की पुष्टि होती है। दोनों आरोपियों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के तहत कार्रवाई की गई है। राजधानी लखनऊ से करीब 130 किमी दूर नेपाल से सटे लखीमपुर खीरी में हुई इस दिल दहला देने वाली घटना को लेकर लोगों में खासा आक्रोश है। 

घटना नेपाल सीमा पर ईसानगर इलाके की है। बच्ची का शव शुक्रवार रात यहां एक गन्ने के खेत में मिला था। लड़की दोपहर से गायब थी। पिता का आरोप है कि जब लड़की को ढूंढा गया तो उसका शव देर रात गांव के एक व्यक्ति के खेत में मिला। उसकी आंखें बाहर निकली हुई थी और जीभ काट दी गई थी। गले को दुपट्टे से कस कर दबाया गया था।

बलात्कार के बाद हत्या
धौरहरा सर्किल के पुलिस अधिकारी अभिषेक प्रताप ने बताया कि लड़की की बलात्कार के बाद हत्या करने की सूचना मिली थी। दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। जिस खेत में बच्ची का शव मिला, वह आरोपियों में से एक का है। पोस्टमार्टम में लड़की के साथ हुए बलात्कार की पुष्टी हो गई है। लेकिन उन्होंने पिता के दावे के अनुसार आंखे बाहर आने और जीभ काटे जाने की बात को खारिज किया है। पुलिस ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गला घोंटने की वजह से पीड़िता की मौत हुई है। उन्होंने बताया कि आरोपियों के खिलाफ बलात्कार, हत्या और नेशनल सिक्योरिटी एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी।

इस घटना को लेकर राजनीति भी शुरू हो गई है। पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने इस घटना पर दुख जाहिर करते हुए इसे शर्मनाक करार दिया। पूर्व सीएम ने ट्वीट करते हुए कहा ‘‘यूपी के लखीमपुर खीरी के पकरिया गांव में दलित नाबालिग के साथ बलात्कार के बाद उसकी नृशंस हत्या अति-दुःखद व शर्मनाक। ऐसी घटनाओं से सपा व वर्तमान भाजपा सरकार में फिर क्या अन्तर रहा? सरकार आजमगढ़ के साथ खीरी के दोषियों के विरूद्ध भी सख्त कार्रवाई करे, बीएसपी की यह मांग है।’’

भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद मे भी इस घटना को लेकर योगी सरकार को घेरा है। आजाद ने ट्विटर पर लिखा, ‘‘योगी सरकार में दलित उत्पीड़न चरम पर है। लखीमपुर खीरी के पकरिया गाँव में दलित नाबालिग के साथ दरिंगगी के बाद उसकी बेरहमी से हत्या कर दी गई। अगर यह जंगल राज नही है तो फिर जंगल राज किसे कहते हैं? हमारी बेटियां सुरक्षित नही, हमारे घर सुरक्षित नही, हर तरफ भय का माहौल है।

Comment here