देश

भारत ने हासिल की बड़ी कामयाबी, बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि-3 का किया सफल परीक्षण

भारत ने अपनी मिसाइल शक्ति और आत्मनिर्भर रक्षा क्षेत्र में एक और बड़ी कामयाबी हासिल की है। भारत ने बुधवार को ओडिशा के तट से एपीजे अब्दुल कलाम द्वीप से मध्यम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि- III का सफल परीक्षण किया।

नई दिल्ली: भारत ने अपनी मिसाइल शक्ति और आत्मनिर्भर रक्षा क्षेत्र में एक और बड़ी कामयाबी हासिल की है। बुधवार को भारत ने ओडिशा के तट से दूर एपीजे अब्दुल कलाम द्वीप से मध्यम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि-3 (ballistic missile agni-3) का सफल परीक्षण किया गया। इस संबंध में रक्षा मंत्रालय ने एक बयान जारी कर जानकारी दी।

यह सक्सेसफुल टेस्ट भारत के रूटीन यूजर ट्रेनिंग लॉन्च को स्ट्रेटेजिक फोर्सेस कमांड के निर्देशन में किया गया। रक्षा मंत्रालय ने इस संबंध में अपने बयान में कहा, “लॉन्च एक पूर्व निर्धारित रेंज के लिए किया गया था और सिस्टम के सभी ऑपरेशनल पैरामीटर को वैलिडेट किया गया था।

बता दें कि, मध्यम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि-3 को 2011 में अग्नि-2 के उत्तराधिकारी के रूप में सेवा में शामिल किया गया था।अग्नि-3 की मारक क्षमता 3,000 से 5,000 किलोमीटर तक है। फायर के बाद यह मिसाइल पाकिस्तान और चीन सहित कई पड़ोसी देशों के अंदर तक जाकर टारगेट को हिट कर सकता है।

अग्नि-3, एक-दो चरणों वाली बैलिस्टिक मिसाइल है, जो परमाणु हमला करने में सक्षम है। इसे DRDO ने डिजाइन किया है। यह मिसाइल सॉफिस्टिकेटेड नेविगेशन, एक एजवांस ऑनबोर्ड कंप्यूटर सिस्टम और गाइडेंस और कंट्रोल सिस्टम्स से लैस है। बता दें कि, अग्नि 3 मिसाइल अधिक कंपन, शोर और गर्मी का सामना कर सकती है।