देश

पूर्व PM राजीव गांधी के हत्यारों की रिहाई को कांग्रेस देगी चुनौती

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के खिलाफ पुनर्विचार याचिका दाखिल करेगी

नई दिल्ली : पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के हत्यारों की रिहाई के खिलाफ कांग्रेस पुनर्विचार याचिका दाखिल करेगी। सुप्रीम कोर्ट ने हत्याकांड में शामिल सभी 6 दोषियों को रिहा करने का आदेश दिया, जो सभी जेल से बाहर भी आ गए हैं। अब कांग्रेस ने इसे चुनौती देने की तैयारी कर ली है।

सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस द्वारा इस हफ्ते सुप्रीम कोर्ट आदेश के आधारों को चुनौती देने वाली पुनर्विचार इस सप्ताह दायर की जाएगी। इससे पहले दोषियों की रिहाई के खिलाफ केंद्र की भाजपा सरकार भी सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दायर कर चुकी है।

बता दें कि 11 नवंबर को ही सुप्रीम कोर्ट ने इन दोषियों को 31 साल जेल में बिताने के बाद रिहा करने का आदेश दिया था। कोर्ट ने तमिलनाडु सरकार की ओर से अपराधियों की सजा में छूट की सिफारिश के बाद यह रिहाई का आदेश दिया था। कोर्ट के आदेश के बाद नलिनी श्रीहरन के साथ ही आरपी रविचंद्रन, संधन, मुरुगन, जयकुमार और रॉबर्ट पायस को रिहाई मिल गई थी। इस साल मई में एजी पेरारिवलन को कोर्ट ने अनुच्छेद 142 का हवाला देते हुए रिहा कर दिया था।

गौरतलब है कि 21 मई 1991 में तमिलनाडु के श्रीपेरंबदूर में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को आत्मघाती हमले में उस वक्त मौत के घाट उतार दिया गया था, जब वे एक चुनावी रैली को संबोधित करने जा रहे थे। आत्मघाती आतंकी महिला की शिनाख्त धनु के रूप में हुई थी।